कैसे पढ़ाई करें - how to study smart ?

Latest Breaking News

Sunday, January 13, 2019

कैसे पढ़ाई करें - how to study smart ?

कैसे पढ़ाई करें - how to study smart ?



1. एक समय-सारणी (timetable) बनाइए:

कैसे पढ़ाई करें - how to study smart ? : यदि आपके सामने पढ़ने के लिए लंबी रात पड़ी है, तो दिन के लिए योजना बना लीजिए। 30-60 मिनट की अवधियों में पढ़ाई करने का लक्ष्य रखिए जिनके बीच में 5-10 मिनटों का अवकाश हो। आपके मस्तिष्क को रीचार्ज होने के लिए ब्रेक की जरूरत होती है। यह आलसीपन नहीं है; यह आपके मस्तिष्क को सूचना को समन्वय करने का अवसर देना है।
i. स्वयं को ऊबने से रोकने के लिए और माइंड को सेचुरेट होने से रोकने के लिए प्रत्येक घंटे विषयों को बदलने की कोशिश भी कीजिए। किसी एक विषय के बहुत अधिक हो जाने पर ब्रेन सेचुरेट होने लगता है। एक नया विषय आपके मन और आपकी प्रेरणा को जगा देगा।

2. दूसरी चीजों के बारे में चिंता करने के लिए कोई अलग समय रख लीजिए:

कभी-कभी पढ़ना कठिन हो जाता है क्योंकि बाहरी दुनिया की दूसरी चीजें हमारे मन में आती रहती है, चाहे वह अच्छी हो या खराब। हमें लगता है कि हमें अपनी सोच पर कोई नियंत्रण नहीं है, परंतु हमें है। अपने से कहिए कि आप उस समस्या, लड़की या लड़के के बारे में पढ़ाई समाप्त करने के बाद में सोचेंगे। आपको यह सोच कर शांति मिलती है कि आप अंत में उस पर पहुँचेंगे। और जब वह समय आता है, तो तीव्र इच्छा वास्तव में चली गई होती है।

i. जब आप को ऐसा लगना आरंभ हो जाता है कि आप का मन भटक रहा है, तो इसे एकदम रोक दीजिए। इसको एक सेकंड में झटक दीजिए, और तब विषय पर फिर से आ जाइए। आप अपनी सोच के मालिक हैं। आपने उन्हें आरंभ किया था, और आप उन्हें रोक भी सकते हैं!

ii. अपने पास एक पेन और कागज रखिए और आपके पढ़ने के सत्रों में जो भी आपके मन में आ जाता है उसे लिख डालिए। जब आप विराम ले रहे हों तब आप इन चीजों के बारे में कुछ कीजिए या सोचिए।

3. निर्धारित करें कि आप कैसे सीखना चाहते हैं: 

मान लिया कि आपने अभी-अभी किसी बुक के 20पेज को पढ़ा है। तुरंत अगली बुक के 20 पेज को पढ़ने के लिए कूद पड़ना आपके लिए बिल्कुल ठीक नहीं होगा। इसके बदले उस पिछले विषय से सम्बंधित कुछ प्रश्नोत्तर हल करने की कोशिश करें। केमिस्ट्री की इक्वेशन को याद करने में अपनी सहायता करने के लिए कुछ चार्ट बना लें। अगर इससे रिलेटेड कोई टेप है तो उसे सुनें। कुछ ऐसा पढ़ें जिसमें अलग स्किल्स और ब्रेन के अलग सेक्शन के इस्तेमाल की जरूरत पड़े। इससे, आपके बोर होने के चांस कम हो जायेंगे

i. और आपके मस्तिष्क के लिए काम करना भी आसान होगा। आप जिन स्किल्स का उपयोग कर रहे हैं, उन्हें निर्धारित करना सूचना को और भी जल्दी समझने में आपके मस्तिष्क की सहायता करता है और उस पर लंबे समय तक पकड़ बनाए रखता है। समय और भी जल्दी चला जाएगा और आप इसे बेहतर याद रखेंगे? विश्वास न हो तो चेक करके देख लें।
4. स्वयं अपने को इनाम दीजिए:

कभी-कभी चलते रहने के लिए हमें थोड़े प्रोत्साहन की भी आवश्यकता होती है। यदि अच्छे ग्रेड पाना पर्याप्त पुरस्कार नहीं है, तो पढ़ाई में ध्यान लगाए रखने के लिए अपने आप को कोई और रिवॉर्ड दीजिये। ये कुछ भी हो सकता है जैसे अपने पसंद की मिठाइयाँ खाना या कुछ खाते हुए टीवी देखना? शॉपिंग? एक मालिश या एक झपकी? कौन सी चीज आपको ध्यान लगाकर पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित करेगी?

i. हो सके, तो अपने माता-पिता को इसमें शामिल कर लीजिए। क्या वे आपको किसी प्रेरक की आपूर्ति करने में सहायता कर सकते हैं? हो सकता है कि अच्छा ग्रेड लाना कुछ समय के लिए आपको उस काम से छुटकारा दिला दे जिसे आप नापसंद करते हैं या आपकी जेब खर्च को अस्थायी रूप से बढ़ा दे। उनसे पूछिए कि क्या वे किसी प्रकार की पुरस्कार योजना बनाने में सहायता करने के लिए इच्छुक हैं; पूछने से कुछ नहीं बिगड़ता है।

5. यदि आवश्यक हो, तो पीछे हट जाइए:

क्या कभी आपने किसी कागजी कार्यवाही से निपटा है जिसमें कुछ भारी कागजों को भरना होता है, परंतु आपको पता नहीं था कि इनमें से कई का मतलब क्या है? कभी-कभी पढ़ाई करना भी ऐसा ही बन जाता है। पहचान कीजिए कि कब आपके लिए पीछे लौटते हुए इसे आसान बनाना जरूरी है। यदि आपको मूल बातों का पता नहीं है, तो विषय-वस्तु से सामना मत कीजिए। पहले इसके पदों की व्याख्या कर लीजिए।

i. जब यह पूछते हुए कोई प्रश्न आता है कि, "महात्मा गांधी ने दांडी यात्रा कब समाप्त की थी?" तब यह जानना सहायक होगा कि महात्मा गांधी कौन हैं। इसे पहले जान लीजिए और तब विषय-वस्तु पर आइए।

6. पढ़ना अधिक सक्रिय बनाइए:

शिक्षक इसे जानते हैं, परंतु वे इसे बिरले ही कहते हैं: पढ़ना उबाऊ हो सकता है, विशेषतः जब यह उस प्रसंग का है जिसमें आपको मजा नहीं आता। अपनी पढ़ाई को अधिक प्रभावी बनाने के लिए और ध्यान लगाना आसान करने के लिए, पढ़ने की सक्रिय तकनीकों का उपयोग कीजिए। यह आपके मस्तिष्क को भटकने से रोकेगा और सुनिश्चित करेगा कि आपके ग्रेड ऊँचे रहें। यहाँ कुछ विचार हैं:

i. पढ़ते हुए स्वयं से प्रश्न पूछिए।

ii. पृष्ठ से आँखें हटा कर, आपने जो पढ़ा है उसे संक्षेप में जोर से कहिए

7. वर्णन किए गए विचारों, चरित्रों, कथा-वस्तुओं और घटनाओं पर नोट बनाइए:

जो आप कहना चाहते हैं उसे कहने के लिए जितना संभव हो सके कम शब्दों का और संक्षिप्त उदाहरणों का प्रयोग कीजिए। अपने नोट में जो आप लिख रहे हैं उसके शब्द-विन्यासों को संक्षिप्त कर लीजिए। पृष्ठ संख्या, शीर्षक नोट कर लीजिए और पुस्तकों के लेखकों के नाम लिख लीजिए, हो सकता है कि किसी ग्रंथ-सूची या अन्य किसी कारण से आपको फिर इनका उल्लेख करना पड़े।

i. अपने नोट बनाने के अंश के रूप में एक प्रश्नोत्तरी की रचना कीजिए, इसे जाँचने या दोहराने के लिए इसे बाद में पढ़ सकते हैं।

Read More
पढ़ाई में मन लगाने के उपाय - Best Study Methods

8. इंटरनेट पर संपर्क कीजिए, और तब अपना अवकाश समाप्त होते ही सीधे वापस आ जाइए:

अपने अवकाश के दौरान, अपने ऑनलाइन समय का उचित उपयोग कीजिए। फेसबुक से संपर्क कीजिए। अपना फोन चालू कीजिए और संवाद या मिस्ड कॉल की जाँच कीजिए। जब तक कोई आपात्काल न हो उनके उत्तर देने में समय व्यतीत मत कीजिए। अपने पसंद की सभी अवकाश सक्रियताओं में भाग लीजिए; पर ऐसा केवल कुछ मिनटों के लिए ही कीजिए। इसे अपनी प्रणाली से बाहर निकाल दीजिए, और तब वापस पढ़ने बैठ जाइए। चाहे कुछ ही मिनटों के लिए ही क्यों न हो, "प्लग्ड इन (plugged in)" और "संयुक्त," हो कर आपको बेहतर लगेगा।

i. यह एक छोटा सा रीचार्जिंग सेशन (recharging session) होगा जो आपके ध्यान केंद्रित करने की क्षमता में चमत्कार ला देगा। आप सोच सकते हैं कि इससे ध्यान बंटेगा और आप विपथ हो जाएंगे, परंतु अंत में आप और भी अधिक कर पाएंगे। जब तक आप अपने अवकाश के उपयोग में बुद्धिमत्ता बरतते हैं।

विधि 3 : ध्यान लगाना आसान करना - Study Smart
1. अपने शरीर की सुनिए:
इस विषय का तथ्य यह है कि हम सभी के लिए दिन के कुछ समय ऊँची ऊर्जा वाले होते हैं और कुछ समय अत्यंत नीची ऊर्जा वाले भी होते हैं। आपके कब हैं? यदि संभव हो, तो ऊँची उर्जा वाले समय पढ़ने का प्रयास करें। आप बेहतर ध्यान लगा सकेंगे और जो ज्ञान आप मस्तिष्क में डाल रहे हैं उसे स्मृति में रख सकते हैं। किसी भी अन्य समय में यह कठिन परिश्रम होगा।

i. कुछ लोगों के लिए, यह उजाला तड़के सवेरे होता है जब उनके पास दिन के लिए काफी ऊर्जा मौजूद रहती है। दूसरों के लिए, कुछ शक्ति मिलने के बाद, उनका संचालन रात में बढ़ता है। आपका जो भी समय हो, अपने शरीर की बोली पर ध्यान दीजिए और उसी समय पढ़ाई कीजिए।.

2. पूरी नींद लीजिए:

नींद से सोने के लाभ लगभग अनगिनत हैं। केवल आपके हॉरमोन ही नियमित नहीं होते और सूचनाओं का समन्वय ही नहीं होता, बल्कि अगले दिन के लिए आपको पूरी शक्ति लगाने के लिए भी तैयार करता है। वास्तव में, थक कर चूर हुई अवस्था में ध्यान लगाने का प्रयास करना नशे में आकर ध्यान लगाने की कोशिश करने के समान है।यदि आप ध्यान नहीं लगा सकते, तो यह उसका कारण हो सकता है।

i. अधिकांश लोगों को रात में 7-9 घंटों की नींद की आवश्यकता होती है। कुछ लोगों को थोड़े अधिक की होती है, और कुछ लोगों को थोड़े कम की। जब आपने अलार्म नहीं लगाया होता है, तो आप कितने घंटे सोना चाहते हैं? जैसी आवश्यकता हो, हर रात बिस्तर पर कुछ पहले जाते हुए उसे पूरा करने का प्रयास कीजिए।

3. स्वस्थ भोजन करें:

आपका भोजन ही आपको बनाता है, और यदि आप स्वस्थ भोजन करते हैं, तो आपका मस्तिष्क भी स्वस्थ होगा। रंग-बिरंगे खाद्य को और चर्बी-रहित मांस खाने का लक्ष्य रखें; जैसे, आपकी पसंद के रंग-बिरंगे फल तथा सब्जियाँ, पूरे अनाज, चर्बी-रहित मांस और डेयरी उत्पाद, बादाम (घी में तले भजिया/चिप्स और मोटा बनाने वाली कैंडी नहीं), और अच्छी चर्बियाँ जैसे डार्क चॉकलेट और जैतून का तेल। एक स्वस्थ आहार आपको ऊर्जा से भरा रखेगा और आपके मस्तिष्क को आजमाना आसान करेगा।

i. सफेद रंग के खाने की चीजों से बचिए, जैसे, सफेद रोटी, आलू, आटा, चिकनाई और चीनी। यह केवल "प्राणहीन" आहार हैं और चीनी वाले पेय तो आपको कक्षा में या पढ़ने के समय ढहा देते हैं।

4. अपनी सोच को नियंत्रण में रखें

जब बात इस पर आती है तो आप स्वयं अपनी प्रेरणा हैं। यदि आप अपने को समझा लेते हैं कि आप ध्यान केंद्रित कर सकते हैं, तो आप कर सकते हैं। अपने मन से सीधी टक्कर लीजिए और सकारात्मक सोचना शुरू कर दीजिए: आप यह कर सकते हैं और आप करेंगे। स्वयं आपके सिवा, आपको कोई भी रोकने वाला नहीं है।

i. "और भी 5 " नियम को आजमाएँ। आप अपने से कहें कि छोड़ने के पहले मैं और भी पाँच चीजें करूँगा या और भी पाँच मिनट लूंगा। एक बार जब आप इन्हें समाप्त कर लेते हैं, तो और भी पाँच कीजिए। कार्यों को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट लेने पर चीजें उनके लिए आसान हो जाती है जो कम समय के लिए ध्यान केंद्रित कर पाते हैं और यह आपके मस्तिष्क को अधिक देर तक चलाते रहता है।
5. सबसे कम पसंद कार्यों को सबसे पहले करें:

जब आप तरोताजा रहते हैं, तो आपके पास ध्यान लगाने की सबसे ऊँची शक्तियाँ उबाल पर रहती हैं। सबसे पहले सबसे सूक्ष्म और गंभीर पृष्ठभूमि वाले विषयों को पूरा करें, और तब आसान, परंतु विवरणों के लिए आवश्यक कष्टकर विषयों (कम चुनौती देने वाले) की ओर जाएँ। यदि आप आसान कार्यों को पहले करेंगे, तो पूरे समय तक कठिन विषयों के बारे सोचते रहेंगे और तनाव से भुगतते रहेंगे, जिससे आपकी उत्पादकता और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता कम हो जाएगी।

i. इतना कहने के बाद, पढ़ते समय स्वयं को किसी कठिन समस्या या निबंध प्रश्न में अटकाने या उससे हारने की उलझनों से बचिए। कभी-कभी हो सकता है कि नियत कार्य का सबसे नापसंद भाग सबसे अधिक समय लेने वाला हो और यह आपके पूरे उपलब्ध समय को निकाल दे/निगल जाए। इसलिए अपने समय को सीमित करें और यदि अत्यंत आवश्यक हो, तो अपनी ही निगरानी में आसान विषयों पर चले जाएँ।

विधि 4 : अपने लाभ के लिए टेकनॉलॉजी का उपयोग करना - Study Smart

1. पता कीजिए कि अल्फा वेव साउंड टोन्स (alpha wave sound tones) सुन कर, आपके पढ़ने के लिए ध्यान केंद्रित करने में, स्मरणशक्ति और एकाग्रता में और अन्य कार्यवाहियों में सुधार होता है या नहीं:

यूट्यूब पर किसी बाइन्यूरल बीट (BiNaural Beat), तथा हेडफोन या आवश्यकता हो तो इयरबड्स की खोज करें। यदि बाइन्यूरल बीट्स आपके लिए काम करते हैं, तब तो जादू हो जाएगा!

i. पढ़ते समय सुनिए। सबसे अच्छे परिणामों के लिए पढ़ने के समय नीची या मध्यम आवाज में इन्हें सुनिए। लंबे अरसे तक उपयोग हानिकारक नहीं है

2. ध्यान लगाने के सभी चरणों और सलाह का अनुसरण करें:

भोजन, विश्राम या आपके पढ़ने लाभ पहुँचाने वाली किसी भी चीज की समय-सारणी से संयोजित करते हुए, यह धुन आपकी स्मरणशक्ति में सुधार कर सकती है। पढ़ना जीवन का इतना महत्वपूर्ण अंश है और ध्यान केंद्रित करना तथा ध्यान लगाना सीखना एक आजीवन कुशलता है।

3. सुनिए कि बाइनाउरल बीट (BiNaural Beat) के बाद वातावरण की ध्वनियाँ कैसी सुनाई देती हैं:

कुछ घंटे सुनने के बाद आपके कानों को कमरे में स्वाभाविक परिवेशी ध्वनियों के साथ व्यवस्थित होने में कुछ मिनट लग जाएँगे। यदि आपका सुनना कुछ गड़बड़ हो जाता है, तो यह बिल्कुल स्वाभाविक है। बाइनाउरल बीट से कई अन्य विचित्र प्रभाव संभव हैं, परंतु अधिकांश लोगों के लिए यह काम करते हैं।

i. 10-25 मिनट के लिए सरदर्द स्वाभाविक है, यह आपका मस्तिष्क धुन के साथ व्यवस्थित हो रहा है। अगर यह 30 मिनट बाद नहीं चला जाता, तो इसे अपने कार्यक्रम से बाहर रखना ही बेहतर है।

ii. ध्वनि को और भी आकर्षक बनाने के लिए बीट के साथ संगीत भी चलाया जा सकता है। एक साथ मिल कर वे ध्यान लगाने में आगे भी सहायता करते हैं।

★★★ सलाह :

1. प्रमुख शब्दों और वाक्यों को चिन्हित कीजिए और अपने मन में बिठाने के लिए उन्हें बार-बार दोहराइए। अपनी पुस्तकों को बंद करते हुए इसे जोर से कहिए या इसे लिख लीजिए।

2. आपने अपने काम को दी गई अवधि में पूरा कर लिया है यह देखने के लिए प्रतिदिन के लिए कार्य नियत कीजिए।

3. अपने पढ़ने की आदतों का हिसाब लगाइए, जैसे पहले के नोटों पाठ्यपुस्तक में पृष्ठों को दोबारा पढ़ना।

4. सोचिए कि आप सबसे ऊँचे अंक लाएँगें और आप ला सकते हैं। सब कुछ छोड़ कर केवल अपनी पुस्तक की ओर देखिए। केवल रट्टा मत मारिए। आपको इसे समझना भी चाहिए।

5. दृढ़ाग्रह (इस पर लगे रहना) मध्यम, या लंबी अवधि के लक्ष्यों का रहस्य है, प्रतिभा उत्पन्न कीजिए (ऊँचे स्तर पर जिसमें आप अच्छा बनना चाहते हैं उसका अनुसरण कीजिए: अपनी क्षमता का विकास करना शुरू कीजिए; इसकी आकांक्षा कीजिए और अपनी प्रतिभा/या कुशलता को आकार देने के लिए इसे पूरा कीजिए)।

6. इसे सुनने में सहायता मिलती है कि आप यदि फेल कर जाएँ और 35 अंकों के नीचे "F" लेकर आएँ, तो आप क्या करेंगे। इसके बारे में सोचिए

7. आपको बेहतर करने के लिए बाध्य करेगा (या "लुभाएगा")।बीच बीच में, फलों के छोटे टुकड़े खाइये या खाने का एक कौर लीजिए; ठंडे जूस की चुस्की लीजिए, एक टुकड़ा खा कर पानी पी लीजिए, जिससे भूख इत्यादि मर जाए – और आप सावधान/जगे हुए, तृप्त रहें, परंतु और के लिए चाह बनी रहे।

8. सामयिक लक्ष्य रखें और उन्हें पूरा करें। हमेशा याद रखिए: "आप जिस पर विश्वास करते हैं, उसे पा सकते हैं।" लक्ष्य रखते हुए और एक-एक चरण लेते हुए अपनी “आशाओँ” को पूरा करते हुए आपके सपने (या आशाएँ) सच हो सकते हैं (कॉलेज, कैरियर, परिवार)। अपने संभव भविष्य के लिए दिवास्वप्न देखें!

9. अपने लंबी अवधि के बड़े लक्ष्यों (अपने बेहतर/सर्वोत्तम जीवन के सपनों/और योजनाओं) को साकार करने के लिए अपनी संतुष्टि के छोटे-छोटे लक्ष्यों को टालते हुए, सोचिए कि अपने मुख्य लक्ष्य को पा लेने के बाद आप (अन्य) अच्छी चीजों के लिए आगे बढ़ेंगे।

10. फाइनल परीक्षाओं के दौरान, कुछ कॉलेजों के पुस्तकालय कर्मचारियों को अल्पाहार क्षेत्र विद्यार्थियों के लिए अतिरिक्त समय/सारी रात खुला रखते हैं।

11. सुनिश्चित कीजिए कि जिस कमरे में आप पढ़ रहे हैं उसमें प्रकाश उज्ज्वल रहे जो आपकी आँखोँ को ध्यान केंद्रित करने में सहायता करें।

12. जिसे आप पाना चाहते हैं उस लक्ष्य या चुनौती को रखें: यह आपके ध्यान लगाने में और उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कठोर परिश्रम करने में सहायक होगा। अपने आप से कहिए, "ठीक है, मैं 30 मिनट के लिए अपने फोन/कंप्यूटर की अनदेखी करूँगा तब 10 मिनट के लिए फोन पर जाउँगा जिसके बाद और भी पढ़ूँगा।" जो आपको एक वास्तविक पढ़ने का समय देना और बीच-बीच में आपको अवकाश देगा।

★★★ चेतावनी :

1. बहुत अधिक समय तक मत पढ़िए क्योंकि आपका मस्तिष्क लंबे समय तक ध्यान नहीं लगा सकता। अंत में आप दूसरी चीजों के बारे में सोचने लगेंगे और जो विषय आप पढ़ रहे हैं उसके बारे में नहीं सोच सकेंगे।





2. बहुत देर तक बैठे मत रहिए। यह आपके स्वास्थ्य की क्षति कर सकता है।

3. यदि आप सरदर्द अनुभव करना शुरू करते हैं तो एक अवकाश ले लीजिए। साधारणतः "पढ़ाई का सरदर्द" इस बात का सूचक हैं कि आँखोँ पर लंबी अवधि से तनाव पड़ रहा है।

★★★ चीजें जिनकी आपको आवश्यकता होगी :

1. पानी की बोतल
2. स्नेक्स (हल्का, कम कैलोरी)
3. आपके नोट और आपकी पुस्तकें
4. कागज, पेन और पेंसिलें
5. एक शांत स्थान (एक उचित वातावरण)
6. कैल्कुलेटर
7. डिक्शनरी
8. इंटरनेट पर कुछ खोजने के लिए स्मार्टफोन
9. घड़ी

Tags : - Study Smart
कैसे पढ़ाई करें - how to study smart ? : 

1 comment: