Computer Ki Speed Kaise Badhaye.

Latest Breaking News

Thursday, January 17, 2019

Computer Ki Speed Kaise Badhaye.

पीसी को और फास्ट कैसे करें - Pc ya Computer Ki Speed Ko Kaise Bdaye.?

Computer Ki Speed Kaise Badhaye.
Computer Ki Speed Kaise Badhaye.

कंप्यूटर/लैपटॉप स्‍लो हो जाते है, जब वे पुराने हो जाते है, और फाइलें, अप्रयुक्त सॉफ्टवेयर और अन्य डिजिटल मटेरियल से वे भर जाते है। यहाँ तक कि फास्‍टर प्रोसेसर भी समय के साथ स्‍लो हो जाते है। हालांकि, यह जरूरी नही कि आप अपने पीसी को बदले या किसी कंप्‍यूटर एक्‍सपर्ट के लिए कॉल करें।

आप काफी कुछ प्रॉब्लम को ठीक कर सकते हैं, मैन्युअली ट्रबलशूट कर अपने आप प्रॉब्लम को फिक्‍स कर सकते है।

यहाँ हम देखेंगे की बिना एक पैसा खर्च किए पीसी की स्‍पीड को कैसे क्विकली और आसानी से बढ़ाए।

इससे पहले कि आप कंप्‍यूटर कि स्‍पीड को बढ़ाने कि प्रोसेस शुरू करें, पहले आपका पीसी कैसे परफॉर्मेंस कर रहा है यह चेक करें। विंडोज के बिल्‍ट–इन टूल से आप पीसी की विशेष स्ट्रेंथ और वीकनेस का एक त्वरित अवलोकन प्राप्त कर सकते हैं।

यह टूल पीसी के परफॉर्मेंस को मापता है, और इसे पांच कैटगरी में विभाजीत करता है – प्रोसेसर, मेमोरी, ग्राफिक्स, गेमिंग ग्राफिक्स, और हार्ड डिस्क।

विंडोज 7 और 8 में Control Panel –> Performance Information and Tools में जाएं और ‘Run the assessment’ को क्लिक करें।

विंडोज का यह टूल प्रोसेसर, मेमोरी, ग्राफिक्स, गेमिंग ग्राफिक्स, और हार्ड डिस्क के परफॉर्मेंस का स्‍कोर 1.0 से 7.9 तक दिखाता है। कम स्‍कोर का मतलब आपके पीसी का सबसे विक एरिया इंडीकैट्स करता है।

लेकिन विंडोज 8.1 वर्जन से माइक्रोसॉफ्ट ने इस ग्राफिकल इंटरफेस को निकाल दिया है।

स्‍टार्ट में कंमाड प्रॉम्‍प्‍ट पर राइट क्लिक करें और Run As Administrator पर क्लिक करें।

अब कंमाड प्रॉम्‍प्‍ट में “winsat prepop” टाइप करें और एंटर करें।

या अधिक जानकारी के लिए, आप थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर का उपयोग कर सकते हैं।

PassMark Performance Test:
PassMark PerformanceTest कई अलग अलग स्‍पीड टेस्‍ट कर पीसी को बेंचमार्क करता है और अन्‍य पीसी के साथ इस रिजल्‍ट की तुलना करता है।

PassMark Performance Test के ट्रायल वर्जन में आपको आपके पीसी कें अंदर कि पुरी पिक्चर मिल जाएगी। यह प्रोसेसर, मदरबोर्ड, ग्राफिक्स कार्ड, मेमोरी, हार्ड ड्राइव और सीडी/डीवीडी ड्राइव इन सभी की एक व्यापक तस्वीर देता है। एक सटीक बेंचमार्क स्कोर प्राप्त करने के लिए, सभी प्रोग्राम्‍स को क्‍लोज करें। PerformanceTest स्‍टार्ट कर Benchmark को रन करें। Summary में आपको पीसी के सभी कॉम्पोनेन्ट कि परफॉर्मेंस समरी मिलेगी।

अब आपको आइडिया आ जाएगा कि वास्तव में क्‍या गलत हो रहा है और किसी एरिया पर आपको काम करना है।

Fix The Most Pc Speed Problems:
Performance Test किए बिना भी आपको अपने पीसी के बारे में इतना तो पता चल ही जाता है कि पीसी का कौनसा पार्ट ठिक से काम नही कर रहा है। पीसी के सबसे कॉमन प्रॉब्‍लम को कैसे सॉल्‍व करें यह देखते है।

1) You Computer Starts very slowly:

अगर आपका पीसी बहुत स्‍लो बूट हो रहा है, तो इसका कारण विंडोज के साथ लोड होने वाले प्रोग्राम्‍स हो सकते है। विंडोज के साथ अनावश्यक स्‍टार्ट हो रहे प्रोग्राम्‍स पीसी को स्‍लो कर देते है। इन्‍हे स्‍टार्टअप में से निकालने के लिए-
Windows key+R कि प्रेस कर msconfig टाइप करें और एंटर करें।
Startup टैब पर क्लिक करें।

2-remove-program-from-startup-computer-speed-tips - अनचाहे आइटम को अनचेक करें।

नोट: एंटीवायरस सॉफ्टवेयर या जिस प्रोग्राम को आप पहचानते नहीं उसे डिसेबल न करें।

कन्फर्म करने के लिए OK पर क्लिक करें।

विंडोज 8 और 10 में, Ctrl+Alt+Delete कि प्रेस कर Task Manager में जाएं

Startup टैब पर क्लिक करें।

आप इस उद्देश्य के लिए CCleaner, Jetboost, Advanced SystemCare 7 Free जैसे कई फ्री प्रोग्राम्‍स का उपयोग कर सकते हैं। या फिर आप BootRacer फ्रि टूल कि मदद से पीसी बूट को डबल फास्ट कर सकते है।

2) Your Programs Take Time To Load:

हम सभी निराश हो जाते है, जब हमारा पीसी या कुछ प्रोग्राम्‍स रन होने के लिए बहुत समय लेते है या कुछ समय के लिए फ्रीज़ हो जाते है।

एक बार जब पीसी कंप्यूटर फ़ाइलें, फ़ोटो और म्यूजिक से भर जाता है, तब इन स्‍टोर आइटम को रिट्रीव करने के लिए काफी समय लगता है क्‍योकि वे पुरे हार्ड ड्राइव पर बिखर जाते है।

हर बार जब आप प्रोग्राम्‍स और फ़ाइलों को, एड … डिलीट … एड … डिलीट… करते है, तब भी यह इनफॉर्मेशन बिखर जाती है। इसे फ्रेगमेंटेशन कहते है।

इसके लिए हार्ड डिस्‍क को समय समय पर डीफ़्रेग्मेंटेशन करना पड़ता है।

Disk Defragmenter को ओपन करने के लिए Start में सर्च बॉक्‍स में Disk Defragmenter टाइप करें और Disk Defragmenter पर क्लिक करें।

Current status के अंतर्गत, डीफ़्रेग्मेंट के लिए डिस्क सिलेक्‍ट करें।

अगर डिस्‍क को डीफ़्रेग्मेंट किए जाने की जरूरत है या नहीं यह चेक करने के लिए Analyze disk पर क्लिक करें।

Analyze हो जाने पर, अगर यह 10% से अधिक है, तो आपको डिस्क डीफ़्रेग्मेंट करनी चाहिए।

Defragment disk पर क्लिक करें।
 
विंडोज 10 में, विंडोज एक्‍सप्‍लोरर में हार्ड ड्राइव पर राइट क्लिक करें, Properties –> Tools में जाएं और ‘Defragment now’ को क्लिक करें।

3) Turn Off Caching:

Disk write caching यह विंडोज का फीचर फास्‍ट वोलेटाइल मेमोरी (RAM) का उपयोग कर सिस्‍टम परफॉर्मेंस को को इम्प्रूव करता है। यह डिस्‍क पर राइट करने के लिए राइट-रिक्‍वेस्‍ट के लिए इंतजार किए बिना एप्‍लीकेशन को फास्‍ट रन करने के लिए मदद करता है।

turn-off-caching-in-windows-computer-speed-tipsMy Computer पर राइट-क्लिक करें फिर Properties में जाएं।

Hardware टैब पर क्लिक करें, और उसके बाद Device Manager

डिस्क ड्राइव को एक्सपैंड करें।

जिस ड्राइव पर आप disk write caching को ऑन करना चाहते है, उसपर राइट-क्लिक करें और Properties में जाए।

दोनो चेक बॉक्स को सिलेक्‍ट करें और फिर OK पर क्लिक करें।

नोट: usb या अन्य removeable drive के लिए ऐसा मत करो, नहीं तो जब ड्राइव अनप्‍लग करेंगे तो आपका डेटा लॉस्‍ट हो जाएगा।

4) Your Documents Opens Very Slowly:

a) Turn Off Indexing:
turning-off-indexing-computer-speed-tipsहार्ड ड्राइव पर इंडेक्सिंग को टर्न ऑफ करना यह भी पीसी के परफॉर्मेंस को बढ़ाने का एक बहुत ही सरल तरीका है। सर्च प्रोसेस को फास्‍ट करने के लिए, इंडेक्सिंग सर्विस विंडोज सिस्‍टम में फ़ाइलों और फ़ोल्डर्स स्‍कैन करता है और इस इनफॉर्मेशन को इंडेक्‍स फ़ाइल में रिकॉर्ड करता है।

लेकिन यह प्रोसेस कुछ सिस्‍टम रिसोर्सेस को बर्बाद करती है, इसलिए अगर पीसी स्‍लो परफॉर्मेंस दे रहा है, तो इस सर्च इंडेक्सिंग को टर्न ऑफ करना ही बेहतर है।

विंडोज विस्टा, 7 और 8 और 10 में, Start मेनू में Indexing options टाइप करें।

Indexing Options पर क्लिक करें, फिर Modify और जो लोकेशन इंडेक्सिंग में नही चाहिए वह अनचेक करें।

b) Change Default settings in the Normal template:
यदि डॉक्युमेंट्स (वर्ड, एक्सेल और पावरपॉइंट) लोड होने के लिए बहुत समय ले रहे है, तो यह डिफ़ॉल्ट डॉक्युमेंट्स टेम्पलेट कि साइज बहुत बड़ी होने से हो सकता है।

आप नॉर्मल टेम्पलेट को कस्टमाइज़ कर सकते है और डॉक्युमेंट्स कि डिफ़ॉल्ट सेटिंग्स बदल सकते हैं जैसे टेक्‍स्‍ट फॉर्मेट, पैरेग्राफ फॉर्मेट, स्‍टाइल आदि। अगर नॉर्मल टेम्पलेट कि साइज 20KB से अधिक है,  तो इसे फिक्‍स करने कि जरूरत है।

वर्ड शुरू करें और निचे के पाथ कि Normal.dotm फ़ाइल ओपन करें।

Users/ username/Library/Application Support/Microsoft/Office/User Templates/

और फिर इस Normal.dotm फ़ाइल में चेंजेस करें।

सुनिश्चित करें कि ‘Embed fonts in the file’ सिलेक्‍ट नहीं है।

OK पर क्लिक कर इस टेम्पलेट को सेव करें।

5) Your Web Browsing Is Slow:

अगर आपने यह नोटिस किया है आपके गूगल क्रोम या फायरफॉक्स ब्राउज़र स्‍लो हो गया है, या यहां तक कि वह क्रैश हो जाता है। अनावश्यक प्लगइन्स, एक्सटेंशन, और यहां तक कि ब्राउज़िंग डेटा आपके ब्राउज़र कि स्‍पीड को स्‍लो करते है। इसे इस तरह से फिक्‍स करें-

फायरफॉक्स और क्रोम के एड-ऑन्‍स काम के तो होते है, लेकिन ज्‍यादा Add-ons ब्राउज़र पर बोझ बन जाते है, जिससे उसका स्‍पीड कम हो जाता है।

आपको नियमित रूप से बिना काम के ऐड-ऑन और प्लगइन्स को डिलीट करते रहना चाहिए।

क्रोम में एड्रेस बार में chrome://extensions टाइप कर आप ब्राउज़र में इंस्‍टॉल एक्सटेंशन की लिस्‍ट देख सकते है।

removebrowser-extension-computer-speed-tips
Firefox में, मेन मेनू में Add-ons ऑप्‍शन चुनें। Extensions पर क्लिक करें और अनचाहे एक्सटेंशन रिमूव करें।

बेहतर ब्राउज़ करें: 8 सेटिंग्‍स जो बनाएंगे आपके गूगल क्रोम को और अधिक फास्‍टर और रिलाएबल

6) Copy Files To An External Hard Disk Becomes Slow:

अगर आप अपने पीसी से एक्‍सटर्नल हार्ड डिस्क पर डेटा कॉपी कर रहे है और इसका स्‍पीड बहुत कम है, तो अलग यूएसबी पोर्ट का इस्‍तेमाल कर के देखे। कंप्‍यूटर के सामने का यूएसबी पोर्ट शायद USB 1.1 होगा। अगर आप कंप्‍यूटर के पिछे के यूएसबी पोर्ट का इस्‍तेमाल करेंगे तो स्‍पीड अच्‍छी मिलेगी। इसके साथ ही अब कई कंप्‍यूटर USB 3.0 पोर्ट के साथ आते है। अगर आपके कंप्‍यूटर के पिछे ब्लू कलर का USB 3.0 पोर्ट है तो आपको इससे १० गुना ज्‍यादा स्‍पीड मिलेगी। लेकिन इसके लिए आपको पीसी में USB 3.0 के ड्राइवर इंस्‍टॉल करना होगा।

अगर आपके कंप्‍यूटर पर यूएसबी 3.0 पोर्ट नहीं है, तो आप यूएसबी 3.0 का ऐड-इन कार्ड इंस्‍टॉल कर सकते है।

No comments:

Post a Comment